Kahin Door Jab Din Dhal jaye Song Lyrics | Anand | Evergreen Rajesh Khanna Karaoke Hindi Hits | Mukesh Sad Song | Lyricishub

Kahin Door Jab Din Dhal jaye Song Lyrics - Anand | Lyricishub
Kahin Door Jab Din Dhal jaye Song Lyrics - Anand | Lyricishub

Kahin Door Jab Din Dhal jaye Song Lyrics - Anand | Lyricishub

Movie : Anand (1970)
Song: Kahin Door Jab
Starcast: Rajesh Khanna, Amitabh Bachchan
Singers: Mukesh
Music Director: Salil Chowdhary
Lyricist - Yogesh



Kahin Door Jab Din Dhal jaye Song Lyrics - Anand

कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

मेरे खयालों के आँगन में
कोई सपनों के दीप जलाए
दीप जलाए

कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

कभी यूँ ही जब हुई बोझल साँसें
भर आई बैठे-बैठे जब यूँ ही आँखें
कभी यूँ ही जब हुई बोझल साँसें
भर आई बैठे-बैठे जब यूँ ही आँखें

तभी मचल के, प्यार से चल के
छुए कोई मुझे पर नज़र न आए
नज़र न आए


कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

कहीं तो ये दिल कभी मिल नहीं पाते
कहीं पे निकल आए जन्मों के नाते
कहीं तो ये दिल कभी मिल नहीं पाते
कहीं पे निकल आएं जन्मों के नाते

घनी थी उलझन, बैरी अपना मन
अपना ही हो के सहे दर्द पराए
दर्द पराए

कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

दिल जाने मेरे सारे भेद ये गहरे
खो गए कैसे मेरे सपने सुनहरे
दिल जाने मेरे सारे भेद ये गहरे
खो गए कैसे मेरे सपने सुनहरे

ये मेरे सपने, यही तो है अपने
मुझसे जुदा ना होंगे इनके ये साये
इनके ये साये



कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

मेरे खयालों के आँगन में
कोई सपनों के दीप जलाए
दीप जलाए

कहीं दूर जब दिन ढल जाए
साँझ की दुल्हन बदन चुराए
चुपके से आए

Watch Kahin Door Jab Din Dhal jaye Song - Anand | Lyricishub 

Post a Comment

Previous Post Next Post

Comments

{getWidget} $results={3} $Hindi={comments} $type={list}